बिना किसी मुश्किल के: पूरी तरह से स्वचालित कागज कप निर्माण मशीनों की दुनिया

1 जुलाई 2022 को गॉवर्मेँट ने सिंगल उसे प्लास्टिक पर प्रतिबन्ध लगा दिया था जिसकी वजह से जितने भी कप और ग्लासेज प्लास्टिक से बनते थे वो भी बंद हो गए है तो।
आज हम Full Automatic Paper Cup Making Machine – bigness idea Hindi me एक पेपर कप बनाने की मशीन की बात करेंगे जिसके अंदर हम हाई प्रोडक्शन पर काम कर सकते है और बहुत अच्छे प्रॉफिट के साथ आप ये बिज़नेस चला सकते है।
तो कुछ पॉइंट्स है जो हम कवर करेंगे जिससे आप को अच्छे से क्लियर हो जाएंगे की ये बिज़नेस केसा है और आप इसे कर सकते है की नहीं।

Full Automatic Paper Cup Making Machine - bigness idea Hindi me

  • स्पेस(Space)
  • इलेक्ट्रिसिटी(Electricity)
  • प्रोडक्शन(Production)
  • इन्वेस्टमेंट(Investment)
  • (How to use this machine)
  • टेक्निकल सपोर्ट(Technical Support)
  • वारंटी(Warrenty)
  • प्रॉफिट(Profit)
  • रॉ मटेरियल(Raw Material)
  • मार्केटिंग(Marketing)
  • लाइसेंस(License)

Full Automatic Paper Cup Making Machine – bigness idea hindi me

स्पेस(Space)-


मशीन कितनी बड़ी है या कितना स्पेस इस मशीन को लगता है चलिए देखते है

  • 9 फ़ीट लम्बी रहती है।
  • 4.5 फ़ीट चौड़ाई रहेंगी इसकी।
  • 5 फ़ीट की हाइट होती है।

Also Read – जीरो इन्वेस्टमेंट से पैसे कमा सकते |

इलेक्ट्रिसिटी(Electricity)-


इसको चलने के लिए इसका स्टेरिंग लोड होता है 4.5 किलोवाट और रनिंग लोड 3 .५ किलोवाट का लगता है मतलब सीडी बात है आपको कमसे कम 5 किलोवाट का लोड लगेंगे इसे चलने ले लिए।
अगर आपके पास सिंगल फेश का कनेक्शन है तो ये मशीन सिंगल फेश में भी मिल जाती है और थ्री फेश में तो मिल ही जाएँगी।

प्रोडक्शन(Production) –


अगर फुल स्पीड में चलते हो इस मशीन को तो आपको 75 पीसेज पर मिनट बना कर दे देंगी।
पर अगर एवरेज प्रोडक्शन देखते तो वो 65 पीस का आता है।
मतलब एक घंटे में आप को ये मशीन 3900 पीस बना कर देंगी
तो फिर अगर आप एक दिन में 10 घंटे इस मशीन को चलते हो तो आपको ये मशीन टोटल 39000 पीसेज कप या ग्लासेज बना सकते है।

इन्वेस्टमेंट(Investment) –


ये कम्पलीट मशीन अगर आप बुय करने जाते हो तो कमसे कम 750000 रुपये है जिसमे सब कुछ ब्रांडेड रहता है जैसे मोटर्स ब्रांडेड रहेंगी सारे इलेक्ट्रिक पार्ट्स ओरिजिनल होंगे।
और जो डाई होती है या बोल सकते है खाचा वो भी साथ में ही आता है और वो भी अलग अलग साइज का होता है। तो वो भी साइज आपको चाहिए मिल जाएंगे
अगर आप एक्स्ट्रा डाई लेना चाहते हो तो उसका कॉस्ट आपको 40 हज़ार के आस पास का पड़ेंगे।
अब GST की बात करे तो इस मशीन में आपको 18 % GST आपको अलग से लगेंगे इस मशीन।
और ट्रांसपोर्ट का भी आपको ही देखना पड़ेंगे। फैक्ट्री वाले ये सब करके नहीं देते ज्यादा तक।
और अगर आप इनके तकनीशियन को बुलवाते हो तो उनके आने जाने का खर्चा आपको ही देखना पड़ता है।
बस इतने खर्चो के अंदर आपको ये मशीन चालू मिल जाएगी आपके घर में।

Also read – LED bulb business – bigness idea in hindi

टेकिन्कल सपोर्ट(Technical Support) –


जब भी आप इस मशीन को लोंगे इनका टेक्निशल आपके आप आएंगे मशीन सेटअप करेंगे और पहली बार आपके हाथो से प्रोडक्शन निकलकर सब सीखा कर आएंगे।

वार्रन्टी(Warrenty)-


इस मशीन के अंदर आपको बस मोटर का वार्रन्टी होती है। अगर कभी भी आपको मोटर की प्रॉब्लम आएंगी तो आपको सीधे मोटर की मनुफक्चरल कंपनी से कॉन्टेक्ट करना पड़ेंगे या आप लोकल से भी ठीक करवा सकते हो।

Also Read – फोटोग्राफी बिजनेस प्लान कैसे करे

प्रॉफिट(Profit) –


चलिए प्रॉफिट को समझने के लिए एक एक्साम्प्ले लेते है
मन लो आप 100 ML का कप बना रहे हो तो आपको उसके लिए
100 किलो ब्लेंक लगेंगे
और साथ में 25 किलो बॉटम लगेगा मतलब जितना भी बनाएंगे उसमे का 25 % हमें बॉटम लगेगा।
तो 100 ML के ब्लेंक के अंदर 680 पीस होते है। मतलब 680 ब्लैंक्स आते है एक किलो कागज के अंदर।
तो एक किलो ब्लैंक्स का रेट है 120 / Kg और बॉटम का रेट लगेगा 105 / Kg।

तो अब 100 किलो ब्लेंक का प्राइस हो जायँगे 12000 रुपये।
और उसके साथ जो बॉटम लगेगा उसका प्राइस टोटल हो जाएंगे 2625 रुपये।
तो अब टोटल हुआ 14625 रूपये।
मतलब 100 ml ब्लेंक के 100 किलो में आपको मशीन बना कर देंगी टोटल 68000 पीसेज।
मतलब 14625 रुपये में आपको 68000 पीसेज कप मिल जायेंगे। चाहे वो कोई भी कलर में क्यों न हो।
अब समझो 100 ml की कप बनाने के लिए जो रॉ मटेरियल लगेगा और उसे बनाने की कॉस्ट टोटल हमें 22 पैसे लगेंगे।
अब इसको कम्पलीट करने के आपको अलग से 4 पैसे का और खर्चा आएंगे जिसमे –
पैकिंग का खर्चा 1 पैसे
इलेक्ट्रिसिटी का खर्चा 1 पैसे
लेबर का खर्चा 2 पैसे
तो फाइनल कम्पलीट कॉस्ट हुई 26 पैसा पर पीस।

51W579h7UlL. SL1500

तो 6000 पीस का खर्चा 70 रूपये तक बैठेंगे दत्ता की पैकिंग को जोड़ कर।
और इलेक्ट्रिसिटी का 3 .5 यूनिट के हिसाब से एक घंटे का १० रुपये यूनिट का लगा लो।

अब आप इसे 30 से 35 पैसे पर पीस के हिसाब से मार्किट में बेच सकते हो। जो आपसे बल्क में ले रहे है
जैसे कहा ये बिकता है चलिए देखते है –

  • फ़ास्ट फ़ूड की दुकान में
  • हलवाई की दुकान में
  • चाय कॉफ़ी की दुकान में
  • कैटरिंग
  • होटल में

तो हमने बनाया 26 पैसे में और बेचा 30 पैसे में तो 4 पैसे का मुनाफा हुआ।
और एक घंटे में हम 39000 पीसेज बनते है। तो इस हिसाब से इसमें हमारा प्रॉफिट हुआ 1560 रुपये एक दिन का।
और अगर मंथ के 25 दिन काम कर रहे है तो हमारा मुनाफा हुआ 39000 रुपये।

अब अगर हम इसे डायरेक्ट कस्टमर को देते है तो उसे हम 35 पैसे में देंगे। मतलब 9 पैसे का मुनाफा।
39000 पीस एक दिन में तो एक दिन का प्रॉफिट हुआ ३५१० रूपये और मंथ के 25 दिन का हुआ 87750 रुपये।
तो कह सकते है 40 हज़ार से 90 हज़ार हर मंथ कमा सकते है।

How to Buy paper glass making machine


उसके लिए आप दिल्ली में मशीन वालो से कॉन्टेक्ट कर सकते है या किसी डीलर से भी कॉन्टेक्ट कर सकते है ।
अगर आपको हमसे उनका नंबर चाहिए तो हमें मैसेज या मेल करे।

अगर आप बैंकसे लोन लेना चाहते है तो ये लोग आपको उसमे भी हेल्प करते है।
ये आपको लोन के लिए उनके पेपर्स की फाइल दे देंगे जिससे आपको बैंक में लोन के लिए अप्लाई करना आसान हो जाएंगे।

रॉ मटेरियल(Raw Material) –


ब्लैंक्स – 120 / kg सिंगल कलर या डबल कलर यही प्राइस में मिल जायेंगे। और आप आप प्रिंट को कस्ट्मिसे करना चाहते जैसे अपना नाम या ब्रांड का नाम तो 5 से 10 रूपये पर किलो प्राइस पडेनागा ये करवाने के लिए।
बॉटम – 105 / kg

मार्केटिंग(Marketing) –


देखो ये ऐसा आइटम है जो गांव सहर हर जगह बिकता है। या चाहो तो व्होलेसलेस से कॉन्टेक्ट कर लो तो वो बिकव देंगे आपका माल।
और होटल वालो से बात कर सकते है।
शादी में उपयोग होते ही है।
या खुद की शॉप भी खोल सकते है।

लाइसेंस(Licanse) –


पेपर कप की इंडस्ट्री चलने के लिए हमें किसी लईकान्से की जरुरत नहीं होती क्योकि हम कोई पोलुशन नहीं कर रहे होते । पर आपको GST नंबर लेना चाहिए क्योकि जब आप मशीन kharidne जाते हो आप GST तो पाय कर ही रहे हो । और अगर GST नंबर होंगे तो उसका भी फायदा मिल सकता है। और जो भी मटेरियल खरीदेंगे उसमे भी GST आप पे करेंगे ही तो आपको GST नंबर ले कर रखना चाहिए।
खेर गोवर्नमेंट का रूल है की 40 लाख के टनओवर तक GST लागु नहीं होती है बाकि आप देख लो।

अगर आपके मन में कोई सवाल है तो हमसे पूछ सकते है हम पूरी कोशिस करेंगे। आप हमें सोशल मीडिया में भी फॉलो कर सकते है जिससे आप नए नए बिज़नेस आईडिया के बारे जानकारी आसानी से मिल जाये। आर्टिकल अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों और परिवार को शेयर करे

Please follow and like us:

3 thoughts on “बिना किसी मुश्किल के: पूरी तरह से स्वचालित कागज कप निर्माण मशीनों की दुनिया”

Leave a Comment

[askmeanythingpeople]