cricket bats manufacturing bussines in hindi ….

7bff7363 f503 4fcc 8f05 811b7b9f2434 3
cricket bats manufacturing bussines.

cricket bats कुछ खाली समय पहले भारत के कारोबार सुरू हुआ है

क्रिकेट बॅट का बिझनेस मामुली बिझनेस नहीं हैं इस बिझनेस से लाखो रुपये कमा सकते हैं

हर कोई क्रिकेट को अच्छी तरह से जानता हैंऔर खेलता था भी है । क्रिकेट खेल मे बॅट की बहुत जरुरत होती है
लेकिन क्रिकेट का उपयोग करने में सबसे महत्वपूर्ण कार्य क्रिकेट बैट और बॉल है, क्योंकि और कोई चीज नहीं है, आपको उनके विकल्प मिल जाएंगे, लेकिन क्रिकेट बैट और बॉल महत्वपूर्ण होंगे।
तो आइए पहले ही जान लेते हैं कि यदि कोई उद्यमी क्रिकेट बैट बनाने का व्यवसाय शुरू कर लाभ कमाना चाहता है तो इस व्यवसाय को चलाने के लिए क्या-क्या आवश्यकताएं हैं।

cricket bats निर्माण व्यवसाय क्या है?

क्रिकेट न केवल भारत में बल्कि दुनिया भर के कई देशों में एक प्रसिद्ध और लोकप्रिय खेल है। इस खेल में क्रिकेट के बल्ले से क्रिकेट की गेंद को हिट करने की कोशिश की जाती है। गेंद, यानी वह गेंद जो क्रिकेट के बल्ले में आती है देखा जाये तो चूंकि क्रिकेट का बल्ला लकड़ी का बना होता है, यह कुछ समय बाद टूट या क्षतिग्रस्त हो सकता है और इसके लिए हर बार एक नए क्रिकेट बल्ले की आवश्यकता होती है। क्रिकेट बैट निर्माण व्यवसाय से हमारा अभिप्राय पैसा बनाने की प्रक्रिया से है, जब एक उद्यमी उपरोक्त आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए क्रिकेट बैट का निर्माण करके और उन्हें बेचकर पैसा कमा सकते हैं

cricket bats बनाने के लिए मशीनें और उपकरण –


क्रिकेट बैट बनाने के व्यवसाय में कच्चे माल के रूप में कई प्रकार की लकड़ी की आवश्यकता होती है जैसे आम का पेड़, सेब का पेड़, गन्ना का पेड़, स्प्लिट विलो (कश्मीर में लकड़ी) आदि, जिन्हें हमने फैलाने के लिए अलग से सूचीबद्ध किया है। क्रिकेट बैट की उत्पत्ति हुई। इंग्लिश विलो स्प्लिट अन्य पेड़ों की तुलना में बेहतर है। ओर देखा जाये तो
अन्य पौधों की तुलना में बेहतर है। ओर देखा जाये तो
अन्य पौधों की तुलना में यह पौधा बहुत महंगा होता है, इसलिए क्रिकेट के बल्ले की कीमत भी अधिक होती है, और इस प्रकार के क्रिकेट बल्ले की पहुंच केवल पेशेवरों के लिए होती है। यहां क्रिकेट बैट निर्माण व्यवसाय शुरू करने के लिए उपयोग की जाने वाली मशीनों की सूची दी गई है।

  1. क्रिकेट बैट बैंड देखा
  2. क्रिकेट बैट बनाने की मशीन,
  3. क्रिकेट बैट फिनिशिंग मशीन
  4. वूड वर्किंग लाथे
  5. कुछ अन्य उपकरण और उपकरण
  6. कच्चे माल की सूची इस प्रकार है।
  • विलो पेड़
  • केण
  • सेब का वृक्ष
  • आम (आम का पेड़)
  • सालिक्स पुरपुरिया (अंग्रेजी विलो)
  • (स्ट्रिंग) रस्सी
  • सिंथेटिक गोंद
  • रबड़ ग्रिप
  • डुको रंग,
  • टेरी कपड़ा,
  • हाइड्रोजन पेरोक्साइड
  • नायलॉन की रस्सी
  • पॉलिथीन शीट

cricket bats कैसे बनाया जाता है:


एक उद्यमी जो क्रिकेट बैट निर्माण व्यवसाय शुरू कर रहा है, उसे प्रशिक्षण में भाग लेना चाहिए जहां वह प्रक्रिया को अच्छी तरह से समझ सके या किसी मौजूदा उद्यमी से मिल कर प्रक्रिया को समझ सके जो पहले से ही इस व्यवसाय में शामिल है। क्रिकेट बैट बनाने का व्यवसाय उत्तर प्रदेश के पंजाब के मेरठ में किया जाता है, इसलिए भविष्य के व्यवसायी इस व्यवसाय से जुड़े व्यवसायियों को वहां ढूंढ सकते हैं। क्रिकेट बैट बनाने की इस प्रक्रिया को चार चरणों में विभाजित किया जा सकता है। यह बिझनेस बहुत ही लाभ दायक हैं

लकडी कटने की प्रकिया

क्रिकेट का बॅट बनाने की प्रक्रिया में सबसे पहले उपलब्ध कच्चा माल लकड़ी होता है जिसे काटकर बल्ले का आकार दिया जाता है और बल्ले का आकार दिया जाता है। एक सामान्य क्रिकेट बैट बनाने के लिए ऐसी लकड़ी का चयन किया जाता है, जिस पर कोई निशान न हो। चमड़े का क्रिकेट बैट बनाने के लिए आप रंगीन लकड़ी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, क्योंकि यह देखने में खराब नहीं होता। क्रिकेट के बल्ले के प्रकार के आधार पर लकड़ी का चयन किया जाता है और उसे बल्ले का आकार दिया जाता है।

हैंडल फिट करना :

केनं एक प्रकार की लकड़ी होती है जिसका उपयोग सिर्फ Cricket bats के Handle को बनाने में किया जाता है | Cane Handle बनाकर उसे क्रिकेट के बल्ले पर बने हुए खांचे में सिंथेटिक गोंद का इस्तेमाल करके फिट कर दिया जाता है |

पेड़ को सख्त करने के लिए

अगर हम साधारण स्टिक से क्रिकेट खेलते हैं तो क्रिकेट की गेंद क्रिकेट के बल्ले तक नहीं पहुंच पाएगी, इसका कारण क्रिकेट के बल्ले की ताकत है। जब आप कमजोर लकड़ी के बल्ले से क्रिकेट खेलते हैं तो बल्ले पर गेंद के निशान साफ ​​नजर आते हैं। लेकिन जब गेंद उस तरह के बल्ले से टकराती है तो वह रफ्तार नहीं पकड़ पाती। इस समस्या को दूर करने के लिए क्रिकेट के बल्ले को मशीन में लोड किया जाता है।

कवर करना :

मशीन में दबाने के बावजूद भी कुछ Plain Cricket bats को हाइड्रोजन पेरोक्साइड एवं तरल अमोनिया के साथ ब्लीच्ड किया जाता है | और जिन्हें ब्लीच्ड नहीं किया जाता ऐसे बल्लों को अलसी का तेल लगाया जाता है, ताकि लकड़ी को मजबूती प्रदान हो सके | इसके अलावा दाग, धब्बों, निशान वाली लकड़ी से निर्मित Cricket Bats में Poplin Cloth का कवर करके Duco Paint कर दिया जाता है |

ताकि दाग, धब्बे, निशान को छिपाया जा सके | कुछ बल्लों को पतली सी रस्सी में लपेटकर चर्मपत्र चिपका दिया जाता है और बाद में इन्हें सूखा दिया जाता है | Cricket bats handle पर पतली सी रस्सी लपेटकर चिपका दिया जाता है उसके बाद उसमे रबर ग्रिप चढ़ा दी जाती है | Cricket Bat Manufacturing business में बल्ले बन जाने के बाद बल्ले के दोनों तरफ स्टीकर लगा दिए जाते हैं | फिर इन्हें Market में बेचकर कमाई की जाती है |
दोस्तों आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया होगा तो कॉमेंट करना ना भुले हम आपके लिये ऐसें बिझनेस आयडिया लेके आयेंगे

Please follow and like us:

Leave a Comment

[askmeanythingpeople]