सूखे फ़ूल व्यवसाय (Dry flower business) शुरू करने के लिए एक सम्पूर्ण गाइड 

अच्छा एक बात बताइए आपको गार्डन बहुत पसंद है और गार्डनिंग बहुत पसंद है।

अगर हाँ,

तो इस ब्यूटिफुल hobby को आप बिजनिस में भी कन्वर्ट कर सकते हैं और बहुत ही कम कॉस्ट में एक बहुत ही प्रोफिटेबल बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

कैसे और कौन सा business यही सोच रहे हैं ना तो ये जान लीजिए कि आपके पास Dry flower business शुरू करने का golden chance है जो पूरी दुनिया में

बहुत ही profit देने वाला बिजनिस आइडिया है क्योंकि हर साल इंडिया से करोडो रुपए के Dry flower export किए जाते हैं।

आप हैरान हो गए है ना लेकिन ये सच है इंडिया से US, Japan, Urope जैसे बीस कंट्री को ये Dry flower यानी कि सूखे फूल स्पोर्ट किए जाते हैं।

Dry flower export में इंडिया largest export में से एक है क्योंकि यहाँ ऐसे flowers की variety अवेलेबल है।

वैसे अब Dry flower का मतलब केवल flower ही समझ रहे हैं।

तो आपको बता दूँ कि इस बिजनिस के अंदर आने वाले Dry flower के अलावा ड्राइव,स्टेम सीट्स और वर्ड्स वगैरह भी आते हैं। यानी flower के अंदर parts भी इसमें इनक्लूड होते हैं।

Dry flower use कहा होता हे?

तो इनका यूज handmade paper,lampshades,candle stands,photo frame,boxes,books,wall decoration,cards और बहुत सारे गिफ्ट आइटम्स में होता है।

इसलिए गुड और हाई क्वॉलिटी dry flower की काफी ज्यादा डिमांड रहती है और इस बिजनिस फर्स्ट year में ही अच्छी इनकम बनाई जा सकती है।

और अच्छी बात तो ये है कि इस बिजनिस को आप अपने घर से भी शुरू कर सकते हैं। तो ऐसे में आपको इस dry flower business के बारे में ज्यादा से ज्यादा जान लेना चाहिए ताकि आप इस बिजनेस के बारे में सोच सके।

dry flower business शुरू कैसे करे ?

इस पोस्ट में जानते हैं वो इंपॉर्टेंट tips जो dry flower business शुरू करने के लिए जरुरी है।

First step- Business plan

पहला steps business plan तैयार करें हो सकता है कि अब आपको लगे कि इस इस इसके लिए plan की क्या जरूरत होगी।

dry flower ही तो सेल करने है सिंपल लेकिन आपको ऐसा बिल्कुल नहीं सोचना चाहिए क्योंकि business to business होता हे चाहे कोनसा भी हो और फिर बिजनिस plan हर बिजनिस को ऊंचाइयों तक पहुंचा सकता है अगर उसे सही तरीके से बनाया जाए तो बस ऐसा ही आपको इस business plan में करना है।

यानी इसमें सारी डिटेल add करनी है।आपके startup ki कॉस्ट ऑन गोइंग कॉस्ट टार्गिट मार्किट कंपनी ने प्रोडक्ट प्राइस। अब यहाँ पर अगर ऑनगोइंग कॉस्ट हम देखे तो इस बात पर डिपेंड करेगी कि आप खुद flowers grow करने वाले हैं या होल सेलर से खरीदने वाले हैं।

और target मार्किट के रूप में शुरू में आपको ऐसे लोग सर्च करने होंगे जो lamp shades, bags aur candle holder jaise decorative item बनाया करते हे। जिनमें dry flower ki jarurut पडती है।

Second step- Market Research

अगला steps आता है नंबर टू मार्किट रीसर्च करें। हो सकता है कि आप लंबे समय से गार्डिंग कर रहे हो या फिर इस एरिया में एकदम नए हो लेकिन दोनों ही कंडीशन में आपको मार्किट को समझना होगा।
क्योंकि gardening की hobby और बिज़नेस में काफी डिफरेंस होता हे इसलिए आसपास के मार्किट dry flower की डिमांड का पता लगाइए।
उस मार्किट में आपके कंपीटिटर कौन है और वो किस तरीके से बिजनिस कर रहे हैं। आपको पता होना चाहिए ताकि आप अपने बिजनिस के लिए यूनीक टीचर लेकर के आ सके।

Third Step- dry flower बनाने के तरीके

तीसरा steps आता है dry flower बनाने के तरीके को अच्छी तरह समझे।
अगर आप खुद ही flowers grow करने वाले हैं तो dry flower बनाने का तरीका आपको सीखना ही होगा।

लेकिन अगर आप इसे किसी होल सेलर से खरीद कर के सेल करने वाले हैं तो भी आपको dry flower तैयार करने का तरीका सीख लेना चाहिए।

क्योंकि अपने बिजनिस की जितनी ज्यादा डिटेल आपको पता होगी वो आपके काम आएगी ही आएगी।

इसीलिए ये जान लीजिए कि इस business में सही crop select करना और ड्राइंग टेक्नीक्स को शामिल करना इनके बारे में थोडी जानकारी लेते हैं।

तो सबसे पहले सूटेबल crops का सलेक्शन करना।

इस बिजनिस का बहुत ही इंपॉर्टेंट part होता है।

इसलिए आपको पता होना चाहिए कि कौन से flowers सूखने के बाद अपनी आर्नामेंटल value खो देते हैं।

उन्हें select ना करें ऐसे everlasting flower को सेलेक्ट करे जो आसानी से ग्रो भी हो जाए और ड्राई भी|

अब यूँ तो फ्लार्स की बहुत सारी ऐसी वैराइटीज हैं जिनकी dry flower डिमांड रहती है। लेकिन ड्राइव, रोजेज, ड्राइड, लोट्स, कॉटन, फ्लार्स, लेवेंटर, इन सारे फ्लार्स की मार्केट में बहुत हाई डिमांड रहती है।

अब बात करें हावेस्टिंग की तो ये स्टेज फ्लार्स की अलग अलग स्पीशीज के अकॉर्डिंग varies करती है। इसलिए आप सेलेक्ट किए फ्लार्स के हाविस्टिंग स्टेज का आपको पता होना जरुरी है।

वैसे जिन फ्लार्स को fully ओपन स्टेज में हैवेस्ट किया जाता है वो जल्द ही ड्राई हो जाते हैं। जबकि टाइड बर्ड या हाफ ओपन स्टेज में हार्वेस्ट करने से ड्राई होने में काफी टाइम लग जाता है।

अब जानें ड्राइंग टेक्नीक्स के बारे में। तो ड्राई ऑरनामेंटल प्लान तैयार करने में बहुत सारी टेक्निक यूज होती है।

जैसे एयर ड्राइंग, प्रेस ड्राइंग, एंबेडेड ड्राइंग, ओवन ड्राइंग, ग्लिसरीन ड्राइंग? और फ्रीज ड्राइंग। इसलिए आपको सही ड्राइंग तकनीक यूज करनी होगी।

इनमे से जिस भी टेकनीक से आप flowers को ड्राई करें उसके बाद उन्हें पैक कर के सेल कर सकते है।

Fourth step- Packaging

अब आगे आपको पैकेजिंग पर भी ध्यान देना होगा। ड्राइड फ्लार्स की पैकेजिंग भी बहुत जरूरी होती है।

क्योंकि ड्राइड फ्लार्स बहुत ही डेलिकेट होते हैं। इसलिए इनकी पैकेजिंग और स्टोरेज में एक्स्ट्रा केयर की ज़रूरत पड़ती है।

इसके लिए आपको इन्हें हर तरह के डैमेज से प्रोटेक्ट करना होगा। चलिए ड्राइड प्लाट तैयार करने का तरीका तो आपने समझ ही लिया है। तो फिर अब अगले स्टेप पर चलते हैं?

Fifth step- रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस?

रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस? लीजिये? अपने बिजनेस का? रजिस्ट्रेशन कीजिये? जिसमे आप स्मॉल या मीडियम बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

जो या तो प्रोपराइटर शिप या पार्टनरशिप फर्म होगी। इसके अलावा आपको जीएसटी रजिस्ट्रेशन, एम एस या एस एस, आई रजिस्ट्रेशन, बी, आई एस, सर्टिफिकेशन, ट्रेड, लाइसेंस, ट्रेड, मार्क रजिस्ट्रेशन की जरुरत होगी।

अब हम जानते हे इन्वेस्टमेंट के बारे मे। इंवेटमेंट कितना लगेगा इस बिज़नेस के लिए

पता है इन्वेस्टमेंट कितना करना होगा? पता लगाइए। आप इस बिजनेस को बहुत ही कम जमीन पर भी शुरू कर सकते हैं।
और इसके लिए आपको 1 अच्छा फ्लार गार्डन तैयार करना होगा।

इसके लिए आपको बिजनेस की शुरुआत। प्रोक्स डेढ़ लाख रुपए इन्वेस्ट करने होंगे। और अगर आप सही बिजनेस प्लान से चले तो हर महीने 20 से 30 हजार रूपए की अर्निंग आसानी से हो जाएगी और आपके बिजनेस की ग्रोथ के साथ ही प्रॉफिट भी इनक्रीस होता जाएगा और अगर आप अपने घर के छोटे से एरिया से इसकी शुरुआत करने वाले हैं तो ये अमाउंट कम भी हो सकता है |

कंपनी नेम और प्रोडक्ट प्राइस सेट कैसे करें?

कंपनी नेम और प्रोडक्ट प्राइस सेट करें अपनी कंपनी का नाम। अगर आप सिम्पल रखेंगे तो लोगों के लिए इसे याद रखना आसान हो जाएगा और उनकी अप्रोच भी इसकी तरफ ज्यादा बढ़ेगी।

इसलिए कॉम्प्लिकेटिड नेम की वजाय सिम्पल और कैची नेम प्रेफर करें। और अपने प्रोडक्ट्स यानी ड्राइड की प्राइस सेट करने से पहले मार्केट में चल रही प्राइस को अच्छे से ऑब्जर्व करें|

और फिर लोकल मार्केट की प्राइस के अकॉर्डिंग अपने प्रोडक्ट की प्राइस को सेट करें।

इस टाइम अगर आप कोई ऑफर दे सकते हो तो इससे कस्टमर्स जल्दी अट्रैक्ट होंगे? ये तो आप भी जानते ही है इसलिए अगर आप ऐसा कुछ यूनीक कर सकते है तो जरूर ऐसी प्लान करें अप्लाई करें।

बिजनेस को प्रमोट कैसे करे?

अगर आप जल्द ऐसी जल्द ज्यादा से ज्यादा कस्टमर्स तक पहुँच बनाना चाहते हैं? तो अपनी वेबसाइट जरूर बनाये?

ताकि आपकी कंपनी और प्रोडक्ट्स के बारे में पता चल सके और वो आपसे जुड़ सके। अपने बिजनेस के प्रमोशन में सोशल मीडिया का भरपूर यूज करे? ताकि आपको न्यू क्लास और कस्टमर्स मिल सके।

आप चाहे तो इन्हें एमेजोन कॉम जैसी वेबसाइट पर भी सेल कर सकते है। और हैंडिक्राफ स्पेयर में भी अपने प्रोडक्ट्स को सेल करना भी 1 अच्छा ऑप्शन हो सकता है। आप इसे अपने रिटेल स्टोर पर भी सेल कर सकते है।

Conclusion:

तो दोस्तों इस तरीके से आप ड्राइ खुशबूदार बिजनेस बड़ी आसानी से शुरू कर सकते हैं। और उससे बहुत जल्दी जल्दी प्रॉफिट अर्न करना भी शुरू कर सकते हैं।

तो अगर ये बिजनेस आइडिया आपके लिए सूटेबल रहने वाला है। आपको वाइप्स आ रही है तो इसके बारे में थोड़ी मार्केट रिसर्च करनी शुरू कर दीजिये। और ऐसा बिजनेस प्लान तैयार कीजिए की आप के बिजनेस को सक्सेसफुल होने से कोई न रोक सके।

Read more business ideas to become owner of your business.

Please follow and like us:

Leave a Comment

Your question is saved and will appear when it is answered.

Be the first to ask!