आज ही गांव में शुरु करे यह बिज़नेस होगी लाखो की कमाई | Business ideas in hindi

आज हम इस आर्टिकल में आपको बताएंगे की टमाटर की पछेती खेती और उसके साथ में एक और खेती करके आप बहुत ही जबरदस्त उत्पादन और बहुत ही शानदार मुनाफा कितना आसानी से कमा लेते हो। 

तो किसान भाइयों हम आपको बताएंगे कि टमाटर की पछेती खेती के लिए कौन सी वैराइटी के बीच का सलेक्शन करना है किस टाइप के मिट्टी की आवश्यकता होती है?

मिट्टी को किस प्रकार से तैयार करना है उसके लिए खाद का प्रबंध किस हिसाब से करना है कौन सी वैराइटी के खाद डालने है

इन सारे टॉपिक पे पूरा डिटेल से बात करने वाले हैं।

सबसे पहले हम बात करेंगे कि टमाटर की खेती के बुआई का सही समय क्या है?

टमाटर की खेती के बुआई का सही समय क्या है?

किसान भाइयों वैसे तो टमाटर की खेती लगभग हर मौसम में की जाती है लेकिन किसान भाइयों टमाटर की खेती से जो अच्छा मंडी रेट आपको मिलना चाहिए वो हर मौसम में नहीं मिल पाता है तो किसान भाइयों इसके लिए आपको हमेशा अप्रैल का महीना चूज करना चाहिए

किसान भाइयों अप्रैल के महीने में अगर आप टमाटर की रोपाई करते हो तो आपके टमाटर के जो मंडी रेट होंगे वह बहुत ही शानदार होंगे किसान भाइयों इसलिए की रोपाई से लगभग दो महीने बाद आपका टमाटर उत्पादन देना शुरू कर देता है और उस कंडीशन में

मतलब कि जून के महीने में आपके टमाटर से उत्पादन निकलना शुरू हो जाएंगे और किसान भाइयों उस समय ज्यादातर किसानों के टमाटर लगभग समाप्ति के तरफ होते हैं तो इसलिए मार्केट में या मंडी में आपके रेट इतनी शानदार हो जाते हैं कि कहिए मत ||

इसलिए किसान भाइयों आपको टमाटर से अच्छा मंडी रेट लेना है तो आप इसकी रोपाई अप्रैल के आखिरी सप्ताह में करें।  

अपने खेत की केल्टी वेटर से मिट्टी पलटने वाले हल से कम से कम एक दो अच्छी गहरी जुताई कर लें। 

इसके बाद किसान भाइयो आप अपने खेत में गोबर की सड़ी हुई खाद या तो मुर्गी की खाद या तो आपके पास वर्मी कंपोस्ट है तो उसका इस्तेमाल आप कर सकते हैं किसान भाइयों या खादे लगभग अस्सी से सौ क्विंटल प्रति एकड़ के हिसाब से खेत में जरूर डालें। 

किसान भाइयों इसके बाद आप अपने खेत में पानी भर दें पलेवा कर दे किसान भाइयों जब आपका खेत दोबारा जुताई के योग्य तैयार हों तब आप इसमें दो तीन ऑडी तिरछी गहरी अच्छी शानदार जुताई करने किसान भाइयो इसके बाद आप जो उर्वरक का इस्तेमाल करेंगे वह जुताई के समय ही करना है किसान भाइयों उर्वरक में आप डीएपी चालीस केजी में रीटा पोटाश लगभग पचास केजी सिंगल सुपर फॉस्फेट अस्सी केजी और लगभग कैल्शियम नाइट्रेट बीस केजी प्रति एकड़ के हिसाब से खेत में डाल कर रोटावेटर चलवाकर खेत की मिट्टी को एकदम भुरभुरी और खेत को एकदम समतल बना लें किसान भाइयों अब हम बात करेंगे नर्सरी प्रबंधन कैसे करना है?

नर्सरी प्रबंधन कैसे करना है?

तो किसान भाइयों नर्सरी आप अपने घर पर ही डालेंगे।  नर्सरी डालने के लिए आप अपने बेड की जो साइज है किसान भाई हो उससे लगभग आठ फिट लंबी और चार फ़ीट चौड़ी रखेंगे। 

किसान भाइयों नर्सरी डालने से पहले अपने बीज को उपचारित जरूर करें उपचारित करने के लिए किसान भाइयो

पांच ग्राम मैंकोजेब कार्बेंडाजिम प्लस पांच ग्राम थिरम को अपने बीच के ऊपर छिटककर पूरी तरह से मिक्स कर लें उसके बाद छांव में सुखा लें उसके बाद ही बीज को डालेंगे किसान भाइयों नर्सरी डालने से पहले आप अपने बेड पर लगभग ढ़ाई सौ ग्राम डीएपी ढ़ाई सौ ग्राम पोटास

और कैल्शियम नाइट्रेट लगभग दो सौ ग्राम अपने बेड के ऊपर छिटककर बेड की अच्छी तरह से गुनाई कर दे। 

उसके के बाद आप अपने बेड पर लगभग पांच ग्राम कार्बोफ्यूरान और ढ़ाई ग्राम कॉपर ऑक्सीक्लोराइड को आधा लीटर पानी में घोलकर आप अपने बेड के ऊपर स्प्रे कर दे किसान भाइयो यह स्प्रे इसलिए करना है कि आपके बेड के जमीन में अगर किसी भी प्रकार के फंगस कीट होते हैं तो वह मर जाएंगे और आपके नर्सरी पर इनका कोई असर नहीं होगा किसान भाइयों जब आपकी नर्स ही पंद्रह दिन की हो जाए उस समय आप दस ग्राम एनपीके उन्नीस को आधा से पौना लीटर पानी में घोलकर अपनी नर्सरी के ऊपर स्प्रे कर दे किसान भाइयो यह स्प्रे करने के बाद आप की नर्सरी पच्चीस दिन में कंप्लीट तैयार हो जाएगी और पूरी तरह से प्रफुल्लित नर्सरी तैयार होगी किसान भाइयों अब हम बात करेंगे रोपाई का तरीका तो किसान भाइयों आपको  टमाटर के साथ में एक और फसल बड़े आसानी से आप ले सकते हो तो किसान भाइयों वह फसल है पालक की |

यह भी पढ़े- सबसे ज्यादा इनकम देने वाला business

टमाटर के रूपाई का तरीका

किसान भाइयों हम बात करेंगे टमाटर के रूपाई का तरीका तो किसान भाइयों आप लाइन से लाइन की दूरी लगभग चार फिट रखेंगे और पौधे से पौधे की दूरी दो फिट रखेंगे किसान भाइयो आप टमाटर को नाली विधि से रोपाई करेंगे किसान भाइयों गर्मियों के मौसम में नाली विधि जो है वह बहुत ही सक्सेस विधि है क्योंकि पानी आराम से आप नाली में दे देते हो और टेम्परेचर ज्यादा हाई होता है तो नीचे की जो मिट्टी इतना जल्दी नहीं नमी उड़ती है इसलिए नाली बहुत ही सक्सेस भी दी है। तो नाली का ही प्रयोग आपको करना है किसान भाइयों जो बीच में चार फिट का डिस्टैन्स बचेगा नाली से नाली के बीच में उसके ऊपर आपको पालक की खेती करना है। 

किसान भाइयों पालक की खेती आप बिल्कुल आसानी से ले सकते हो आपके टमाटर के पौधे लगभग डेढ़ महीने तक पूरी तरह से फैल नहीं पाते हैं उस कंडीशन में आप अपने पालक से कम से कम दो कटाई डेढ़ से दो महीने के अंदर दो कटाई बड़े आसानी से ले सकते हो किसान भाइयों पालक की खेती करने के लिए आप पालक के अच्छे बीज का चयन करें किसान भाइयों पालक के बीच का चयन करने के लिए आप पंजाब का चयन कर सकते हैं ऑल ग्रीन का चयन कर सकते हैं |

टमाटर खेती में बीज की मात्रा ?

टमाटर खेती में आपको बीज की मात्रा थोड़ी ज्यादा लगाती हे। ज्यादा टेम्परेचर होने के कारन बीज के अंदर अंकुरण नहीं होता इसलिए बीज को आपको बढ़ाना पड़ता हे । लगभग ७०-८० ग्राम प्रति एकर के हिसाब से बीज की जरूरत होती हे। 

बेस्ट category  variety –

तो टमाटर खेती के लिए आपको लगेगी nunhems  की sampurna , seminis  की karishma , jindal कंपनी की और arka ये बहुत ही शानदार category  की variety  हे। तो गर्मी में ये केटेगरी की वैरायटी बहुत शानदार हे फूल लगाने के लिए टमाटर को। गर्मी कोई भी वैरायटी लगाने से आपका टमाटर की खेती अचे से नहीं होगी तो इसलिए आपको बहुत ही सुद्बुध से विचार करके के बीज का चयन करना पड़ेगा। 

उत्पादन कितना होता हे टमाटर खेती में ?

तो अब हम देखते हे कितना उत्पादन आप कर सकते हे टमाटर खेती से तो आप लगभग ७०-८० टन प्रति एकर का। जब टमाटर की फसल २०-२५ दिन हो जाये तो तब आप इसमें एक बुनाई करके इसमें लगभग ५० kg यूरिया और ८ kg जयाम अपने खेत चिढ़कर अचे से उसको खुलमिल लीजिये। यह करने के बाद आपकी टमाटर की खेती बहुत ही ज्यादा अचे से होगी और आपकी बहुत ही अचे से तैयार होगी। तो इसके ४० दिन के बाद १० ग्राम NPK  २० २० २० को १ लीटर पानी में घोलकर ऐसी हिसाब से डोज़ तैयार करके फसल पर छिड़के। 

फसल के ५५ दिन के बाद २५० ग्राम NPK ० ५२ ३४ एंड ५० ग्राम boron को १ लीटर पानी में मिक्स करके स्प्रे करे।

Please follow and like us:

Leave a Comment

[askmeanythingpeople]